Wednesday, 4 September 2013

Four fools accomplishment-चार मूर्खों कि सिद्धि


चार मूर्खों कि सिद्धि

एक गाँव चार मुर्ख मित्र रहते थे । वे मुर्ख होते हुवे भी आपस में बहुत प्रेम करते थे और सदभाव के साथ आपस में मिल कर रहते थे, इसलिए वो हर काम एक साथ आपस कि सहमती से करते थे । उनके इस गाँव में, एक बार एक प्रसिद्ध sage का आगमन हुआ । सब गाँव वालों ने मिल कर संत का बहुत स्वागत - सत्कार किया

संत का स्वागत – सत्कार देख कर, उन चारों मूर्खों को यह जानने कि बड़ी उत्सुकता हुई कि उनको इतना स्वागत – सत्कार कैसे मिला ? वो great sage के शिष्यों के पास गये और उनसे पूछा- कि इन संत को इतना मान- सम्मान क्यों मिल रहा है । इस पर शिष्यों ने कहा- great saint ने जंगल में मौन रह कर गहन तप किया है और उस तप से उनको बहुत सी सिद्धियों कि प्राप्ति हुई है । और वो इन सिद्धियों से सबका कल्याण कर रहे हैं । इस कारण सब उनको इतना मान -सम्मान दे रहे हैं ।

बस, फिर क्या था उन लोगों कि बात सुन कर, चारों मूर्खों ने सोचा कि मान- सम्मान प्राप्त करने का इससे सरल और सुगम उपाय और कोई दूसरा हो ही नहीं सकता। हम भी मौन रह कर तपस्या कर के सम्मान प्राप्त करेंगे।

 यह सोच चारों ने मिल कर ये निर्णय लिया कि वो भी संत के समान मौन रह कर घोर तप करेंगे, जिस से हमारे इस तप को देख सिद्धियाँ हमारे पास भागी चली आएँगी, फिर सम्मान मिलने में क्या देरी होगी ।

     चारों ने एक दिया लिया और जंगल में चल दिए। वहां पर एक अधेरी गुफा ढूंढ कर उसमें तपस्या के लिए जा बैठे । अभी तप पर बैठे उनको थोड़ा ही समय हुआ था कि दीपक की लौ लपलपाने लगी । उन चारों मूर्खों में से एक बोला –“ अरे कोई दिए में तेल डालो ।” , दूसरा तुरन्त बोला –“ बेवकूफ ! बाते थोड़ी करनी थीं ।“ तीसरा कहने लगा –“ तुम दोनों मंदबुद्धि हो । मेरी तरह चुप नहीं बैठ सकते ?” चौथा भी कहाँ शांत रहने वाला था, वह बोला –“ सबके सब बोल रहे हो, सिर्फ मैं ही हूँ कि चुप बैठा तप कर रहा हूँ ।“

friend’s, मूढ़ व्यक्ति येसे ही अनर्थ के प्रपंचों में अपना समय गवांते हैं और हाथ कुछ नहीं पाते; जबकि बुद्धिमान लोग अपने विवेक का उपयोग कर, अपने जीवन को उन्नत, सुयोग और समर्थ बनाते हैं।  
   

Friend’s, आप को मेरी, “चार मूर्खों कि सिद्धि” motivational story, Hindi में कैसी लगी? क्या ये story सबकी life (personality) में positivity ला सकने में कुछ सहयोगी हो सकेगी, if yes तो please comments के द्वारा जरुर बताये ।  


One Request: Did you like this personal development base motivational story in Hindi? If yes, become a fan of this blog...please

          
           
Recommend Links