Friday, 31 January 2014

Journey of a Pitcher- एक घड़े की यात्रा- it is a motivational story in Hindi



एक घड़े की यात्रा

A beautiful Pitcher
Journey of a Pitcher

एक कुम्हार था वह बहुत ही सुंदर – सुंदर मिट्टी के बर्तन बनाता था । एक दिन उसने एक घड़ा बनाया और उस पर उसने विभिन्न रंगों से बहुत ही सुंदर चित्रकारी कर दी । घड़ा इतना सुंदर बना था कि उसे देख स्वयं कुम्हार भी अचम्भित था कि उसकी रचना इतनी सुंदर बन सकती है कि सब का मन मोह ले ।

कुम्हार ने pitcher बेचने के लिए बाहर रखे दूसरे बर्तनों के साथ उसे रख दिया । एक साहूकार कुम्हार से बर्तन खरीदने आया, तो बर्तनों के बीच रखे उस घड़े को देखता ही रह गया और कुम्हार से बोला ये घड़ा तो बड़ा ही सुंदर और अदभुत है इसे इसतरह तुमने क्यों रखा है ? तब कुम्हार ने कहा श्रीमान् जी इसे मैने बेचने के लिए रखा है। इस पर साहूकार बोला अरे ! मैने इतना सुंदर घड़ा अपने जीवन में कभी नहीं देखा । इतने सुंदर घड़े को बेच कर तुझे कितना rupeeya मिलेगा... जा इसे राजा को भेट कर दे, वो इस सुंदर घड़े को देख कर अति प्रसन्न होंगे और तुम्हें इनाम में ढेर सारा gold भी देंगे, जिससे तेरा सारा जीवन सवंर जायेगा ।

Journey of a Pitcher 

घड़ा ये सब देख और सुन रहा था, घड़े को कुम्हार और साहूकार की इस प्रसंशा ने मोहित कर दिया । उसे खुद पर गर्व हो आया, कि उससे सुंदर घड़ा कभी नहीं बना और वो संसार का सब से सुंदर घड़ा है । वह अपने दूसरे बर्तन साथियों से बोला, देखो में कितना सौंदर्यवान हूँ कि मेरा रचियता मुझे raja को भेट करेगा और मैं अब raja के Palace में शान से चिरकाल तक विराजित रहूँगा और तुम सब बेच दिए जाओगे, तुम सब को तो यह भी पता नहीं की तुम्हारा new owner तुम सब के साथ कैसा व्यवहार करेगा ।”

तभी आँधी चली और घड़ा लुढका और टुकड़े - टुकड़े हो कर बिखर गया । और जब वह टुकड़े – टुकड़े हो कर बिखरा तो वह God को कोसने लगा –“ तु कितना निष्ठुर है व तुमसे मेरी ख़ुशी देखी नहीं गयी, जो तूने मेरे साथ ऐसा किया । तू  सदा से ऐसा ही निर्दयी है । तू हमेशा हँसते – खेलते लोंगों के अस्तित्व को हमेशा के लिए मिटा देता है ।”

earth mother 

Pitcher टुकड़े - टुकड़े हो कर, जिन धरती mata की गोद में जा गिरा था । उनने घड़े की बात सुनकर घड़े से कहा – पुत्र शांत हो जाओ, तुम मुझसे ही जन्मे हो , इसलिए तुमको समझा रही हूँ । जब तुम को कुम्हार ने गढ़ा तो तुम्हें घड़े का रूप मिला और तुम उपयोगी बने और तुमको आनंद प्राप्त हुआ, पर जब तुम गिर कर टुकड़े – टुकड़े हुए हो तो तुम्हें नहीं पता तुमको क्या मिला... तुम किस अनंतता में विलीन हो गये हो । इस अनंत से मिलना तो स्वयं में एक वरदान है इसे स्वीकार करो । पुत्र ! तुम्हारा अहंकार से पूरित ये शरीर मिटा है न कि तुम्हारी आत्मा, वो अमिट है, अनंत है ।”

धरती माँ की ये बात सुन घड़े का क्षोभ मिट गया और उसे शांति मिली ।
        
Related post    


Thursday, 30 January 2014

Self motivated positive quotes in Hindi-English for students and young youth



Self motivated positive quotes

Ø अपने को असमर्थ और अनुपयोगी मानना सबसे बड़ी भूल है
Ø The biggest mistake is to believe yourself Incapable and useless.

Ø आत्मा की उत्कृष्टता संसार की सबसे बड़ी उपलब्धि है ।
Ø Spirit of Excellence is the World's greatest achievement.

Ø समय का हर पल हमारे लिए उज्जवल भविष्य का संदेश लेकर आता है।
Ø Every moment of time brings to us the message of brighter future.

Ø ‘वर्तमान’ सबसे मूल्यवान समय है ।
Ø The present time is the most valuable time.

Ø जीवन से भागो नहीं वरन इसे समझदारी से जिओ ।
Ø Do not run away from life, but lived it wisely.

Ø जीवन को अविकसित, असफल बनाने वाले कारणों में श्रम से घृणा  और समय की बरबादी ही प्रमुख है ।
Ø Hatred of labor and wastage of time is the key factors that make life underdeveloped and fail.

Ø भाग्य पर नहीं, चरित्र पर निर्भर रहो ।
Ø Do not on luck, be dependent on the character.

Ø बीमारी उसी की सहचरी बन कर रहती है, जो परिश्रम से जी चुराने की नादानी करते हैं ।
Ø The disease is becoming the consort of those who have foolishness labored quitter.

Ø मनुष्य अपने सृजेता की तरह ही सामर्थ्यवान है ।
Ø Man is capable, like its creator.

Ø अंत:करण का वैभव है – प्रेम ।
Ø The glory of Conscience is - love.


Request- “जीवन को बदलने की क्षमता रखने वाले सद- वाक्य, ये वाक्य  विभिन्न पुस्तकों व internet से collect किये गये हैं । ये motivated and inspirational thoughts and quotes का Hindi में collection आप को कैसा लगा? क्या ये आप के जीवन में उपयोगी है ? please हमें ये comment के द्वरा जरुर बताने का कष्ट करें, और गर पसंद आये हो तो इनको share भी करें.. जिससे महापुरषों के जीवन-उपयोगी इन सुविचारों कि खोज जारी रहे, और आप सब तक पहुँचती रहे।
अंत में आप सब readers को मेरा धन्यवाद!  

Related Post
  


Wednesday, 29 January 2014

Which personality have you-आप इनमें से कौन सा व्यक्तित्व रखते हैं- personal development article in Hindi for your rich personality




आप इनमें से कौन सा व्यक्तित्व रखते हैं...? 
childs in pool 


कुछ लोगों की आदत होती है कि वो all time कुछ न कुछ सब को सिखाते ही रहते हैं.. उन्हें दूसरों को भाषण देना बहुत अच्छा लगता है चाहे कोई उनकी सुने या न सुने.. पर वो तो सिखाने पर तुले ही रहते हैं.. ऐसे लोग स्वयं तो उस सीख का जो दूसरों को दे रहे होते हैं पर अमल नहीं करते, पर दूसरों से उमीद करते हैं की उसे पर वो अमल करें । ऐसे लोग न तो स्वयं का और न ही किसी और का कुछ भला कर पाते हैं । केवल अपना और दूसरों का time बरबाद करते हैं.. क्योंकि निर्थक उपदेशों से कुछ हाथ नहीं लगता...  ऐसे ही लोगों के लिए आज मैं एक कहानी लेकर आई हूँ । इस story में दो ज्ञानवान पात्र हैं ... बस आप को तय करना है कि आप इनमें से कौन हैं...?

एक दिन की बात है, एक little child तालाब के किनारे खेल रहा था । वहीँ पास में उस child के father बैठे news paper पढ़ रहे थे । बच्चा खेलते – खेलते तालाब के पानी में उतर गया । तालाब बहुत गहरा था । बच्चा तालाब में डूबने लगा । जब उसके father ने यह देखा तो उसे बचाने की जगह पर किनारे पर ही खड़े हो कर अपने बच्चे को उसने उपदेश देना शुरू कर दिया... कि और मत मनो मेरी बातें.. मने तुमसे कहा था कि पानी में नहीं जाते... “ले, मेरा कहना न मानने का फल अब भुगत।”    
Child drowning in water

तभी वहाँ से एक संत निकले और तालाब में कूद गये और बच्चे को बचा लिया । उसके बाद वह बच्चे के father से बोला – “ पहले उसे डूबने से बचाओ, फिर अपना भाषण दो ।”

ये सच है कि every moment केवल लोगों को उपदेश देते रहना ही उपयुक्त नहीं है बल्कि उस उपदेश पर सबसे पहले स्वयं अमल कने की जरूरत होती है । जो लोग हर समय सिर्फ उपदेश देने का कार्य करते हैं ऐसे व्यक्तियों को अपने कर्तव्य का भान सर्व प्रथम करना चाहिए और यदी कोई ऐसा नहीं करता तो उनको उनके कर्तव्य का ज्ञान कराना ज्ञानीजनों का पहला कार्य है ।

     तो अब बताइए कि आप इस कहानी के दोनों ज्ञान वान पात्रों में से आप कौन हैं ।

One Request: Did you like this personal development base motivational story in Hindi? If yes, become a fan of this blog...please
अंत में आप सब readers को मेरा धन्यवाद!  


Related Post




              

Monday, 27 January 2014

Personal Development Article in Hindi-- How to control anger, when came close to him?


जब क्रोध आये तब उसे कैसे नियन्त्रित करें?
Anger face show your  negative personalty  
How to control anger, when came close to him?  
सफलता के स्वप्न सब लोग सजोंते हैं । कुछ लोग सिर्फ सफलता का स्वप्न देखते हैं । जबकि जागरूक व्यक्ति अपने लक्ष्य की सफलता के प्रति सजग रहते हैं और सफलता के लिए कड़ी मेहनत करते हैं। पर सफलता की प्राप्ति में क्रोध सबसे बड़ी बढ़ा होती है ।

आप चाहे जितने भी talented हो, चाहे जितने भी loving body हो या चाहे जितनी भी pleasant personality हो पर यदी क्रोध आप कि personality का हिस्सा है तो आप चाहे जितनी भी कोशिश कर लें सफलता आप से दूर रहेगी, यदी आप success पा भी गये तो वो टिकी नहीं रहेगी ।    

किसी को भी क्रोध आना एक आम बात है, पर इस कोढ़ के कारण अपना और दुसरो का बहुत नुकसान होता है । लेकिन इस क्रोध के कारण दूसरों का कम और अपना ज्यादा नुकसान होता है इसलिए अपने आप को नियंत्रित करना बहुत ही आवश्यक है । क्रोध आप की personality पर बुरा असर डालता है । आप चाहे जितने अच्छे हो, या जितने भी लोगों के लिए helpful हो यदी आप को क्रोध आता है तो आप किसी के भी Favorites नहीं बन सकते । इसके लिए आप को अपने क्रोध को नियंत्रित करना ही होगा ।

जब आप को क्रोध आये तब क्या करें —
Ø क्रोध को जीतना आसान नहीं है पर मौन इसे जीतने का सबसे आसान तरीका है। अर्थात् जब हमें किसी पर क्रोध आये तो हमें शांत और मौन हो जाना चाहिए । और उस बात को थोड़े समय के लिए टाल देना चाहिए जिसके कारण क्रोध आने की स्थिति पैदा हुई हो और जब क्रोध शांत हो जाये तब उस बात पर विचार करना चाहिए और उस problem को solve करने के method ढूढने चाहिए ।
Ø क्रोध को नियंत्रित करने का एक तरीका यह है की जिस घटना के कारण आप को क्रोध आया है उसे अपने नजरिये की जगह दूसरो के नजरिये से भी देखें । तब आप कुछ हद तक वस्तुतः परिस्थिति को समझ सकेगें और उसके निवारण का उपाय ढूंढ पायेंगे ।
Ø लोगों कि गलतियों के लिए उनको क्षमा करने की आदत डाले । जिस प्रकार जब हम स्वयं कोई गलती करते हैं तो यही चाहते है कि सामने वाला इस बात को भूल जाये और हमे क्षमा कर दे उसी प्रकार आप भी दूसरे कि जगह खुद को रख कर देखे और क्षमा करने की आदत डालें।
Ø दूसरों को क्षमा करने में जहाँ आप को स्वयं में अच्छा महशूस होगा, वही आप के आस –पास के लोगों में आप के प्रति respect बढेगी। आप लोंगों के बीच popular होंगे ।   
Ø स्वयं को कल्पनाओं में नहीं वास्तविकताओं में जीने को प्रेरित करें
Ø क्रोध का एक कारण अव्यवहारिक इक्षाओं का होना । जीवन की मूल आवश्यकताओं को समझें व उनको पूरा करने के लिए मेहनत करे न कि शेख चिल्ली कल्पनाओं व अव्यवहारिक इक्षाओं की पूर्ति के लिए । क्योंकि जब इन इक्षाओं कि पूर्ति में असफलता मिलती के तो हमारे अहं को ठेस लगती है और हम क्रोधित होते हैं ।
Ø अपने आप को कभी दूसरों से न तो तुच्छ समझे और न ही दूसरों से सर्वोपरी क्योंकि जो व्यक्ति स्वयं को अपनी ही दृष्टि में तुच्छ मानता है , वही वस्तुतः तुच्छ है । और जो सिर्फ स्वयं को ही श्रेष्ठ मानता है और किसी कारण जब उसका जब अहं पोषित नहीं होता तो क्रोध आने कि स्थिति पैदा होती है । ये दोनों ही स्थितियां आपकी personalty को बाधित करती हैं ।

आप को personality development पर ये article कैसा लगा ? कृपया कमेंट्स के द्वारा जरूर बताएं । यदी आप को पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ share भी करें ।
अंत में धन्यवाद् !

 Related Links




Motivational and inspirational Quotes Collection in Hindi



Motivational and inspirational Quotes Collection

  • एक व्यक्ति का बड़प्पन इस बात पर निर्भर करता है कि उसके सोचने का तरीका और काम करने का ढंग क्या है

  • जो व्यक्ति इंद्रियों की तृप्ति में ही लगा रहता है, उसे उसकी वासना ही खा जाती है

  • जमाने को दोष देकर अपने को निर्दोष सिद्ध करना एक भूल है

  • अन्याय एक चुनौती है जो इनसान की इनसानियत को ललकारती है

  • सच्चा इंसान वह है, जिसे केवल नीति पर चलना और ऊँचा सोचना आता है

  • असत्य के आधार पर खड़ी की गयी कोई भी दीवार देर तक खड़ी नहीं रह सकती।

  • जो स्वार्थ की साधना में लगा रहता है, वह पाता कुछ नहीं, खोता बहुत है

  • सच्चा सहयोग तो श्रद्धा और विश्वास के आधार पर ही प्राप्त होता है ।

  • सुख केवल वही धन दे सकता है, जो सद्गुणों के मूल्य पर कमाया गया हो ।

  • बुद्धिमान वे हैं जो अपने अमूल्य जीवन के एक – एक पल का सदुपयोग करना जानते है ।  



 Request- “जीवन को बदलने की क्षमता रखने वाले सद- वाक्य, ये वाक्य विभिन्न पुस्तकों व internet से collect किये गये हैं । ये motivated and inspirational thoughts and quotes का collection आप को कैसा लगा? क्या ये आप के जीवन में उपयोगी है ? please हमें ये comment के द्वरा जरुर बताने का कष्ट करें, और गर पसंद आये हो तो इनको share भी करें.. जिससे महापुरषों के जीवन-उपयोगी इन सुविचारों कि खोज जारी रहे, और आप सब तक पहुँचती रहे।
अंत में आप सब readers को मेरा धन्यवाद!  

Related Links